#1 Best Motivational Success Story In Hindi.

वो इंसान कभी खुश नहीं हो सकता जिसने शॉर्टकट से कामयाबी पायी हो. बल्कि खुश तो वो रहेगा जिसने अपने सफलता के लिए बहुत मेहनत की और सफल हो गया. दोस्तों APJ Abdul Kalaam ने कहा था की हर इंसान को कठिनाइयों की आवश्यकता होती है सफलता का आनंद लेने का लिए ये जरुरी है ।

दोस्तों कहानी है एक लड़के की जिसे बड़ा होकर डॉक्टर बनना होता है. जैसे तैसे करके वो 12th Class को पास कर लेता है क्युकी वो पढ़ाई में बहुत ही कमजोर होता है उसके पढ़ाई में कमजोर होने की वजह थी क्योकि उसे मेहनत करना अच्छा नहीं लगता था बस उसको किसी ना किसी तरीके से डॉक्टर बनना था क्योकि उसने और किसी डॉक्टर को अच्छा कमाते हुए देखा था. उसको डॉक्टर बनकर जो भी काम किये जाते है उस काम से उससे कोई लगाव नहीं था उसके बाद डॉक्टर बनने के लिए Exam और Collage में रिस्वत देकर डॉक्टर बन ही जाता है। मेहनत करना भले ही उसको अच्छा नहीं लगता लेकिन वो पैसो की ताकत से अपने सपने सच कर ही लेता है और डॉक्टर बन ही जाता है ताकि वो अच्छा पैसा कमा सके। उसके बाद में एक लड़की का Accident हो जाता है और उस लड़की को उसी हॉस्पिटल में लाया जाता है जहा उस डॉक्टर को इलाज करना था Accident में ज्यादा चोट लगने की वजह से Emergency इलाज उसी को करना होता है।

Read Also -: [Stefan Hopkins] Best Motivational Success Story In Hindi

अब जब उसको इलाज करने के लिए कुछ भी नहीं आता है क्युकी उसने तो अपनी डॉक्टर की डिग्री पैसो से खरीदी थी उसको डॉक्टर की Field में कुछ भी नहीं पता था  क्युकी उसने तो अपनी डॉक्टर की डिग्री पैसो से खरीदी थी उसको डॉक्टर की Field में कुछ भी नहीं पता था। इस तरह से उस लड़की की मौत हो जाती है क्युकी ऑपरेशन के वक्त उस डॉक्टर का हाथ बिलकुल भी नहीं चले तब वो ऑपरेशन रूम से बाहरआते है उसके पिता को ये बोलने की हम आपकी बेटी को बचा नहीं सके। और वो जैसे ही बाहर आकर देखता है तो डॉक्टर उस लड़की के पिता को देखते ही रह जाता है। उस लड़के ने अपने पढ़ाई के समय बहोत लोगो को रिस्वत दी थी जिनमे से एक थे वो लड़की के पिता जो बाहर खड़े अपनी बेटी के लिए दुआ कर रहे थे जिसका ऑपरेशन हो रहा है एक ऐसे डॉक्टर के साथ जिसको डॉक्टर शब्द की ABC भी नहीं आती पर रिस्वत लेने वालो में से एक उस लड़की के पिता भी थे। उसके बाद उस लड़की के पिता को अहसास होता है अगर ये ही हादसा किसी और के साथ हुआ होता तो तो उस लड़की के पिता को इतना अहसास नहीं होता। अब जब खुद की बेटी साथ में हुआ है तो पछतावा हो रहा है और साथ में उस डॉक्टर को भी उसके झूठी डिग्री की वजह से एक लड़की की मौत हो गयी।

दोस्तों हम इंसान अपनी जिंदगी में बहुत बड़ा बनना चाहते है, खूब पैसा कमाना चाहते और वो सब कुछ खरीदना चाहते है जो हमारे सपने है। इस कहानी में रिस्वत लेने वाले और डॉक्टर बनाने वाले दोनों को सिर्फ पैसे से मतलब था। किसी की जान जाए कोई फर्क नहीं पड़ता था।

” दोस्तों जिंदगी की रेस में कुछ बनाने के लिए हम इतने गलत रस्ते चुन लेते है बिना कुछ ये सोचे की इससे किसी की जिंदगी को खतरा हो सकता है लेकिन अहसास तो तभी होता है जब वही खतरा हमारे जिंदगी को होता है “

अगर उस लड़के को डॉक्टर बनाने की चाह होती और वो मेहनत से डॉक्टर बनता तो ना उस लड़की की मौत होती और ना ही उस पिता की लड़की गयी होती। दोस्तों अपने काम से प्यार करो आप जरूर सफल होंगे लेकिन सफलता के लिए कोई Shortcut मत ढूंढो क्योकि आप यदि Shortcut से कुछ बन भी गए तो आप एक न एक दिन जरूर मुँह के बल गिरोगे

तो दोस्तों ये पोस्ट आपको कैसा लगा कृपया आप हमे कमेंट बॉक्स में जरूर बताये आगे भी हम इस टाइप के पोस्ट आपके लिए लाते रहेंगे
इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका बहुत -बहुत धन्यवाद्। हमेशा आप इंडिया स्मार्ट हेल्प पर विजिट करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.